shayari

Shayari By Shwet

Shayari By Shwet शायर – श्वेत शुक्रिया कीजिये इन हिचकियों का, जो सबकी याद दिला देती है, किसी की याद के बहाने। तेरी बोली भीगी हुई चाशनी सी मेरा नाम डुबो दे उसमे जलेबी की तरह जरुरी नहीं कि वो भी हमें चाहें मुश्किल से मिलती है, दो अजनबियों को राहें होती है वजह कोई […]

Read More
sad shayari

Sad Shayari in Hindi – Shwet

Sad Shayari in Hindi शायर – श्वेत लोग हाथों में नमक लिए फिरते हैं कोई अपने ज़ख्म दिखाए तो सही   गम-ए-तन्हाई की ये रात अनकहे बातों के हालात हैं ये जो बारिश की बूंदें हैं ना मेरी आँखों के छुपे जज़्बात हैं सारी उम्र लगाई मैने तुझको पाने खोने में क्या फ़र्क़ था दुनिया […]

Read More
शायरियां

शायरियां: मयख़ाने में गिलास या गिलास में मयख़ाना

शायरियां: मयख़ाने में गिलास या गिलास में मयख़ाना शायर – श्वेत मयख़ाने में गिलास या गिलास में मयख़ाना ख्वाइशों और दर्द का ये गिलास ही है ठिकाना बस चार गिलास रख दो मेरे दोस्त पास रख दो करता है हँसते हुए सब जायेंगे चाहे दुनिया उदास रख दो बोतलों में बंद है दिनभर की थकान […]

Read More
Shayari On Life: खुद पे फेंके पत्थरों से, घर बना के देख शायर: श्वेत

Shayari On Life: खुद पे फेंके पत्थरों से, घर बना के देख

Shayari On Life: खुद पे फेंके पत्थरों से, घर बना के देख शायर: श्वेत आती विपत्तियों को, अवसर बना के देख खुद पे फेंके पत्थरों से, घर बना के देख यूँ तो टूटना बहोत आसां है मुश्किलों में हिम्मत रख और थोड़ा मुस्कुरा के देख लेती हो जब मजे तेरे, किस्मत मुंह छुपा के  नज़रें […]

Read More
Love Shayari

Love Shayari: क्या नींद उसे भी आई होगी?

Love Shayari: क्या नींद उसे भी आई होगी? शायर – श्वेत क्या नींद उसे भी आई होगी?  ये रात सोचते गुजरेगी।  उसे भी बेचैनी छाई होगी, ये रात सोचते गुजरेगी। मेरे इज़हार-ए-मोहब्बत पर, उसकी जाने क्या हालत होगी, नाराज हुई होगी मुझपर, या मन्द-मन्द मुस्काई होगी। ये रात सोचते गुजरेगी, क्या नींद उसे भी आई […]

Read More
Hindi-poetry-shwet-mein-aam-aadmi-hun

Hindi Poetry – मैं तो बस एक आम नागरिक हूँ

Hindi Poetry – मैं तो बस एक आम नागरिक हूँ.. कवि – श्वेत सोच रहा हूँ, कौन सी मौत मरूँ! वायरस की, या भूख की? आसान तो कोई नहीं, तकलीफ तो दोनों में ही होगी… पर एक सिर्फ मुझे मारेगी, और दूसरी ना जाने कितनों को… अब ये निर्णय मुझे ही लेना है कि, मैं […]

Read More
Hindi Poetry Shwet Sunil

Hindi Poetry – तुम प्यार मुझसे करोगे क्या??

Hindi Poetry – तुम प्यार मुझसे करोगे क्या?? कवि – श्वेत उम्र भर का साथ हो, ये बात मुझसे कहोगे क्या चाहता हूँ मैं तुम्हें, तुम प्यार मुझसे करोगे क्या भीड़ में दुनियाँ की मैं, गुम कहीं न हो जाऊँ, हाथ थाम कर मेरा, तुम साथ मेरे चलोगे क्या चाहता हूँ मैं तुम्हें, तुम प्यार […]

Read More
Hindi Poetry - दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है - श्वेत

Mothers Day Hindi Poetry – दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है…

Mothers Day Hindi Poetry शीर्षक: दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है… कवि – श्वेत जिसके आंचल में मोहब्बत, गंगा की तरह बहती है दर्द के धूप पर, प्यार की छांव रहती है दो जहाँ के ग़म समेट कर भी, जो हमेशा खुश रहती है दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है मासूम के क्रंदन […]

Read More