काव्य: कैसे करूँ ज़ाहिर – अक्स

Poetry & Shayari

दोस्तों, मोहब्बत में, एहसास तो होता ही है पर अंतरिम भाव भी होता है। एक उम्मीद होती है, अपने प्रेम से मिलन की, उसके हमेशा करीब होने की और अपने इश्क़ को ज़ाहिर करने की। मोहब्बत में इस बात का भी पूर्णतः ख्याल रखना होता है कि आपका साथी आपसे क्या चाहता है। दिल में छुपी मोहब्बत को बताना और बयान करना भी उतना ही जरुरी है जितना कि मोहब्बत की अनुभूति को दिल में संजोये रखना।

आइये, इस कविता के माध्यम से हम समझते हैं कि जब एक प्रेमिका अपने प्रेमी को विनती करती हैं कि प्रेमी अपने दिल में छुपा प्यार जाहिर करें तो क्या होता है। कैसे एक शर्मीला आशिक़ प्रेमिका को अपने अटूट प्यार को ना ज़ाहिर कर पाने की दलीलें पेश करता है और अंततः कैसे वो शब्दों के माध्यम से अपने दिल में छुपी मोहब्बत को बयान करता है।

प्रेमी कहता है:

कैसे करूँ ज़ाहिर मासूम अपने प्यार को
जान दूँ या तोड़ दूँ शर्म कि दीवार को

ना कोई जोश रहता है, तुझसे दूरी बढ़ाने पर
ना कोई होश रहता है, तेरे करीब आने पर

गर समझो तो समझलो, रक्त कि रफ़्तार को, मगर….

Source: Pixelstalk

कैसे करूँ ज़ाहिर मासूम अपने प्यार को।

शब्दों कि गहराईयों में, बोलना नहीं आता मुझे
वज़न अपने प्यार का, तोलना नहीं आता मुझे

नज़रों के फूल चढ़ाता हूँ, तेरे हर दीदार को, मगर….
कैसे करूँ ज़ाहिर मासूम अपने प्यार को।

यह रिश्ता ज़िन्दगी में, कौन सा रंग लाएगा
बेइन्तेहाँ खुशियां या ग़म, किसको यह संग लाएगा

सुना सकता हूँ दिल की, हर धड़क इस संसार को, मगर….
कैसे करूँ ज़ाहिर मासूम अपने प्यार को।

तेरी यादें, तेरी बातें, तेरा प्यार मेरा ख़्वाब है
तेरे होठों से गिरती शबनम की बूँदें बेहिसाब है

कर दूँ रिहा मैं दिल में कैद, अपने हर विचार को, मगर…. 
कैसे करूँ ज़ाहिर मासूम अपने प्यार को।

सोचता हूँ, कह ही दूँ कि मुझको तुझसे प्यार है
ज़िन्दगी में तू ही है, बस तेरा ही ख़ुमार है

मगर डरता हूँ,

गर कर दिया इंकार तूने मेरे इस इकरार को
क्या सजा दे पाऊंगा मैं अपने ही दिलदार को
आकृति क्या दूंगा मैं प्यार के आकार को
कर दूंगा मैं रोशन, पतझड़ से हर बहार को
दिल में नहीं होगी तकलीफ, मेरे दिलबर यार को
पवित्र कर दूंगा मैं, आंसुओं से धोकर तेरे इंकार को
कुछ इस तरह, करूँगा मैं ज़ाहिर
मासूम अपने प्यार को — मासूम अपने प्यार को

–अक्स

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *