Hindi Poetry - दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है - श्वेत

Mothers Day Hindi Poetry – दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है…

Poetry & Shayari

Mothers Day Hindi Poetry

शीर्षक: दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है…

कवि – श्वेत

जिसके आंचल में मोहब्बत, गंगा की तरह बहती है
दर्द के धूप पर, प्यार की छांव रहती है
दो जहाँ के ग़म समेट कर भी, जो हमेशा खुश रहती है
दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है

मासूम के क्रंदन पर, जिसकी छाती से दूध बहता है
भूखी रह लेती है वो, पर बच्चा न भूखा रहता है
वयस्क होने पर, जो उसी बच्चे का तिरस्कार सहती है
दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है…

कड़ी धूप में, जिसका आंचल ही साया है
बारिशों में, टपकते छत के नीचे खुद सोई 
पर अपने बच्चे को, हमेशा सूखे में सुलाया है
आज वही, वृद्धाश्रम में रहती है 
और अपने बेटे को, वो फिर भी दुआ देती रहती है
दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है…

इस कविता का वीडियो यहाँ देखें:

यह भी पढ़ें – Hindi Poetry: काव्य: कैसे करूँ ज़ाहिर – अक्स

https://www.facebook.com/whatablog/

Please follow and like us:

2 thoughts on “Mothers Day Hindi Poetry – दुनियाँ, उसको प्यार से मां कहती है…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *