sad shayari

Sad Shayari – हो गयी है आदत – अक्स

Poetry & Shayari

Sad Shayari – हो गयी है आदत

शायर – अक्स

ना मेरी मंज़िल दुआ करती है , ना ही राहें इबादत
हर सफर में इम्तिहानों की, हो गयी है आदत

इन्तहा हो चली है, तेरे दीदार-ए-अब्र की
इक नज़र देखे तुझे, हो गयी है मुद्दत
हर सफर में इम्तिहानों की, हो गयी है आदत

ख्वाबों के आशियाँ में, कोई हमसे आकर पूछे
क्या बला होती है, क्या चीज़ है मोहब्बत
हर सफर में इम्तिहानों की, हो गयी है आदत

हर ज़ख्म देता है दुआ, दर्द के एहसास से
पलकों पर जब होती है, आंसुओं की शिरकत
हर सफर में इम्तिहानों की, हो गयी है आदत

इंतज़ार होगा तेरे लौटने का सितमगर
क़यामत तक की ले जा तू, इस दीवाने से मोहलत
हर सफर में इम्तिहानों की, हो गयी है आदत

यह भी पढ़ें: Sad Shayari by Aks: तुमको ढूंढ न पाए मन

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *